sach mano to

Just another weblog

116 Posts

2045 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4435 postid : 237

मेरा नाम है अन्ना

Posted On: 30 Aug, 2011 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

तकनीक के प्रति उनका रूझान नहीं है। तकनीक नहीं जानते। सामाजिक जीवन में शांत रहते हैं। वर्चुअल वल्र्ड में छा गए हैं। कभी हिंसा की बातें नहीं करते। सांसद का घर घेरो, राहुल, सोनिया का घर घेरो, कपिल, चिदंबरम का घर घेरो लेकिन सिर्फ गुलाब देना, वहां हिंसा, तोडफ़ोड़, आगजनी, पुलिस से बक-झक मत करना, दारू मत पीना मैं कह रहा हूं-मेरा नाम है अन्ना। वैज्ञानिकों ने मनुष्यों को चेतावनी दी है सुधर जाओ, आचरण सुधार लो नहीं तो दूसरी दुनिया से एलियन आ जाएगा, तुम्हें खा जाएगा, नष्ट कर देगा। मैं तुम्हें बचाने आया हूं। एंग्री अवतार में लांच हो चुका हूं। मुझे अब भी पहचान लो-मेरा नाम है अन्ना। मैं बर्ड बन गया हूं। उडऩे लगा हूं। यूपीए के भ्रष्टाचारियों पर वार करने लगा हूं। फेसबुक, ट्विटर, आरकुट पर छा गया हूं। देखते ही देखते वर्चुअल वल्र्ड में मेरी तूती बोलने लगी है। सबके सब प्रोफाइल बनाकर मुझे सपोर्ट कर रहे हैं, पर एक बात याद रखना-मेरा नाम है अन्ना। पीएम मनमोहन का शुक्रगुजार हूं, आडवाणी से सुलहनामा कर चुका हूं, मेधा पाटेकर, ओमपुरी का आभारी हूं, गडकरी के भरोसे हूं, कपिल व प्रणव का दोस्त, सोनिया की सहेली हूं पर याद रखना- मैं अन्ना हूं। देश को ललकारा, युवाओं को भरमाया, किरण, केजरीवाल को फुसलाया, धीरे से रामदेव को मनाया, उन्हें हौले से साइड लगाया, अग्निवेश को कपिल मुनी से बात करते पकड़वाया, अरे 299 घंटे भला कौन रह सकता है भूखा, प्यासा, इसी लिए तो रामलीला मैदान के मंच के पीछे एक चारपाई डलवाया, सारे रिकार्ड तोड़ डाला, अरे जानते हो ना माता जी के नाम से मशहूर प्रह्लाद जानी को 1940 से ही अन्न, जल ग्रहण नहीं किया है, चिकित्सक उस चमत्कार की खोज में ही लगे हैं, ठीक वैसे ही जैसे लालू मेरे आध्यात्मिक सामथ्र्य टटोल रहे हैं। अरे मुझे पूरे देश का भ्रमण तो कर लेने दो, फिर देखना कैसे महात्मा गांधी, एलिस पॉल, थॉमस ऐशे, बॉबी सेंड्स, मैरियन डनलप, सेजर शावेज, टेरेंस मैकस्विने, मिया फारो और तिनानमेन छात्र जिन्होंने अनशन की ताकत से दुनिया हिलाई, मैं यूपी और बिहार हिला दूंगा। पूरे भारत वर्ष को मोक्ष दिलाकर रहूंगा, तब और तिलमिलाएंगे लालू, ये शरद बिलबिलाएंगे, अरे संसद में गरजने से कोई शेर नहीं हो जाता, दम है तो बाहर निकल, देखता हूं एक-एक को, चून-चून के मारूंगा याद रखना- मेरा नाम है अन्ना। 74 साल का हूं, फिर भी आज की बालाएं मुझे मर्द कह रही हैं, मेरे समर्थन में महिलाएं न्यूड होने को तैयार हंै, सलीना वली खान अगर जनलोकपाल नहीं आया तो सरेआम, सबके सामने, कभी रामलीला मैदान तो कभी जंतर-मंतर पर न्यूड होकर नाचेंगी, तब यही जो हमारी टीम को अभद्र कह रहे हैं, आंखें मटका-मटका कर, चटक, रस लेकर देंखेगे नौटंकी, तमाशा। जैसे, गमछा लपेटकर मेरे मंच से सांसदों को मुखौटा कहा गया, वही गंवार, नालायक गमछा लपेटकर, मुंह चुराकर सलीना को निहारेंगे और पूछेंगे, अरे ये अन्ना किस चक्की का आटा खाते हैं रे, कि तीन किमी दौड़ भी लगाता है और बारह दिनों तक भूखे रहने के बाद भी टर्रटर्रता है। अरे, ये संसद में बैठे डिब्बे नहीं जानते आज तक नोबेल वही झटक सका, जो कमजोर तबके से उठा, मैं भी तो बेहद कमजोर हूं-मेरा नाम है अन्ना। पहले फूल बेचता था, अब चिडिय़ा बन गया हूं, बर्ड। अब तो वर्चुअल वल्र्ड भी मुझसे अछूता नहीं रहा। एंग्री मैन की भूमिका में नोएडा की टेक्नोलाजी कंपनी गीक मैटर्स स्टूडियो ने मुझे एंग्री अवतार में लांच कर दिया है। इसमें मैं हिंसा, मारपीट, खून-खराबा करूंगा पर याद रखना कोई दुराचार नहीं करूंगा क्योंकि मेरा नाम है अन्ना। मैं अकेला नहीं हूं। फिल्म में हमारी पूरी टीम है जो बर्ड के रूप में यूपीए के मंत्रियों को धूल चटाएंगे, मुझे उस फिल्म में जरूर खोज लेना, पहचानना जरूर मुझे -मेरा नाम है अन्ना। ऑन लाइन इस गेम को पूरी दुनिया में दर्शक मिल रहे हैं। 46 हजार से ज्यादा लोग खेल चुके हैं मुझे, मेरी बात मानना, आप भी देखना, आप भी शामिल होना, बगलवाली को भी लाना, मैं कह रहा हूं-मेरा नाम है अन्ना। विश्वास कीजिए, जैसे अमेरिका की बत्ती गुल हो गयी, सात अरब डालर की संपति का नुकसान हो गया। एक सलमान के बीमार हो जाने से फिल्मी दुनिया का करोड़ों फंस गया। ठीक वैसे ही संसद में हमारी टीम पर हंसने वाले डिब्बे को हम पिचका, देश की माटी में चिपका देंगे। पूरी दुनिया देख रही है, कैसे पहले हमारे अरविंद पर हंसे थे लालू, उसने भी रामलीला मैदान से चारा डकारने वाले को ललकारा। अरे हमने सीखा है, बचपन से सीखते आ रहे हैं, पुलिस वाले को धूस लेते देख खून खौला चुके हैं, कल तक जो किरण बेदी साथ थी, विशेषाधिकार हनन का नोटिस थामते ही केजरीवाल ने उन्हें सुधरने की नसीहत दी है। साफ कह दिया है देश को, वह टिप्पणी उसकी निजी राय थी। याद रखना, हम वो हैं जो कभी साथ नहीं छोड़ेंगे थामेंगे अगर हाथ तो फिर काटकर ही छोड़ेंगे। बालकृष्ण का देखा न कैसा हश्र किया। अरे आगरा में पुलिस वाले अब धूस नहीं लेने की कसम खा रहे हैं और मुंबई में आयकर आयुक्त रिश्वत लेते पकड़े जाते हैं, कौन करवा रहा है ये सब, याद रखना-मेरा नाम है अन्ना। अरे टोपी लगा लेने से कोई अन्ना नहीं हो जाता, डीएनए कराने का तैयार रहो मैं कहता हूं-मेरा नाम है अन्ना। आज कौन नहीं है मेरे साथ, बिपाशा है, लारा है, भाग्यश्री है और तो और विशेषज्ञ डाक्टर हैं जो राज को राज ही रख गए, मेरी लाज को रख गए, ए मेरे वीर जन तुम भी मेरी बहकावे में यूं ही आते रहना ये मैं कह रहा हूं-मेरा नाम है अन्ना।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

18 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

manoranjanthakur के द्वारा
September 3, 2011

thanks for comment

s mohan के द्वारा
September 3, 2011

Sir i cant say much as i dont have enough words to express. Buts its SIMPLY BETTER then the BEST.

abodhbaalak के द्वारा
September 2, 2011

ऐ मनोरजन भाई, लागत है की आप व्यंग में नोबल पुरस्कार तुही का मिली ( हमरा ख्याल से नोबल नहीं बुकर होत है? का करी खोपडिया ही काम नइखे करत हामार :) http://abodhbaalak.jagranjunction.com/

    manoranjanthakur के द्वारा
    September 2, 2011

    श्री अबोध भाई सराहना के लिए बहुत बहुत साधुबाद

manoranjanthakur के द्वारा
August 31, 2011

आप ने सराहा बधाई

alkargupta1 के द्वारा
August 31, 2011

विनोदप्रिय व्यंग्यात्मक रचना ! अति उत्तम |

वाहिद काशीवासी के द्वारा
August 31, 2011

अत्यंत ही रोचक व्यंग्य मनोरंजन जी। बहुत बढ़िया।

    manoranjanthakur के द्वारा
    August 31, 2011

    बहुत साधुबाद

Santosh Kumar के द्वारा
August 30, 2011

अन्नाजी जिंदाबाद ,..जय हो ,.जय भारत ,जय भारती मनोरंजन जी ,..चुटकीली पोस्ट ,……जायकेदार ,..एक जननेता तो मिला जिसके पीछे सभी किस्मे लगी हैं ,…बस ईश्वर से प्रार्थना है ,…वो किसी राजनीतिक साजिश या बहकावे में ना फसें ,..सादर धन्यवाद

    manoranjan thakur के द्वारा
    August 30, 2011

    सराहना के लिए बहुत धन्यवाद

Rajkamal Sharma के द्वारा
August 30, 2011

पहले की ही भांति यह वाला छप्पन भोग भी हमको बहुत पसंद आया धन्यवाद

    manoranjan thakur के द्वारा
    August 30, 2011

    बहुत ही मीठगर बधाई

surti के द्वारा
August 30, 2011

anna is great. you are super

    manoranjan thakur के द्वारा
    August 30, 2011

    thanks a lot

ritesh के द्वारा
August 30, 2011

very nise anna may ho gaya hoo

    manoranjan thakur के द्वारा
    August 30, 2011

    dhanyabad appko

abhay के द्वारा
August 30, 2011

ati sunder mera bhi naam anna hai

    manoranjan thakur के द्वारा
    August 30, 2011

    badhi abhay ji


topic of the week



latest from jagran